July 15, 2024

UKND

Hindi News

मकर संक्रांति के पावन पर्व पर कोहरे और कड़ाके की ठंड के बावजूद हरिद्वार में मां गंगा के पवित्र घाटों पर स्नानार्थियों ने श्रद्धा की डुबकी लगाई

मकर संक्रांति के पावन पर्व पर कोहरे और कड़ाके की ठंड के बावजूद हरिद्वार में मां गंगा के पवित्र घाटों पर स्नानार्थियों ने श्रद्धा की डुबकी लगाई। लोगों ने गंगा स्नान कर दान-पुण्य आदि कर्म किए। खाकर गर्म वस्त्र, तिल व तिल से बने पदार्थ दान कर सुख-समृद्धि की कामना की। गौरतलब है कि इस बार मकर संक्रांति पर्व को लेकर लोगों में भ्रम बना रहा। हालांकि मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही पड़ती है, लेकिन इस बार यह पर्व 15 जनवरी को पड़ रहा है। इस बार संक्रांति का आगमन 14-15 की मध्य रात्रि में होने से मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। ज्योतिष के मुताबिक 15 जनवरी को मकर संक्रांति पर 77 सालों के बाद वरीयान योग बन रहा है। इसके साथ ही रवि योग का संयोग इसे बेहद खास बना रहा है। वरीयान योग की शुरुआत 14 जनवरी को मध्यरात्रि में 2 बजकर 40 मिनट से होगी और यह योग 15 जनवरी की रात 11 बजकर 10 मिनट तक रहेगा। हालांकि आज भी लोगों ने मकर संक्रांति पर्व मनाते हुए गंगा स्नान किया। देश के कई प्रांतों से आए श्रद्धालुओं ने भी गंगा में पुण्य की डुबकी लगाई। गंगा स्नान के लिए अलसुबह से ही गंगा घाटों पर स्नान के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरू हो गया था। स्नान पर्व को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे।