July 15, 2024

UKND

Hindi News

ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले हो जाएं सावधान

देहरादून-: राजधानी देहरादून के लगातार बढ़ते ट्रैफिक व सड़क पर पसरे बेहिसाब वाहनों को नियंत्रित करने को राजधानी पुलिस कप्तान अजय सिंह व उनकी टीम द्वारा नए सड़क व्यवस्था को सुधारने सहित जो बेहतर हो सके वह उपाय अमल में लाये जा रहे है। जिस क्रममे राजधानी के ट्रैफिक को नियंत्रित करने व सड़को पर बेतरतीब ढंग से खड़े वाहनों के खिलाफ कार्यवाही करने को पुलिस कप्तान अजय सिंह द्वारा आज आपरेशन फ्लाइंग हॉक शुरू किया है। जिसके तहत दून पुलिस हाई टेक ड्रोन की सहायता से शहर में नियंत्रण व चालान करेगी।

पुलिस कप्तान अजय सिंह ने बताया कि दून पुलिस द्वारा आपरेशन ‘फ्लाइंग हॉक’ के तहत आज से राजधानी के यातायात व सड़क व्यवस्था को मॉनिटर करने को हाईटेक ड्रोन इस्तेमाल में लाये जा रहे है। उपयोग में लाये जाने वाले उक्त ड्रोन एक ‘मल्टी पर्पस’ डिवाइस के तौर पर कार्य करेगा। जोकि शहर में न सिर्फ यातायात की व्यवस्था जांचेगा, बल्कि नो पार्किंग में खड़े वाहनों, अस्थाई अतिक्रमण पर निगरानी रखेगा बल्कि नगर क्षेत्र में निकलने वाली शोभा यात्रा, जुलूसों की क्लोज मॉनिटरिंग कर पुलिस बल द्वारा मैन्युअल सुरक्षा सहित पुलिस की ओर से टेक्निकल सुरक्षा भी मुहैया करवाएगा। दून पुलिस द्वारा उक्त ड्रोन हेतु मुंबई बेस्ड आईडिया फोर्ज टेक्नोलॉजी लिमिटेड कंपनी से अनुबंध किया गया है। अनुबंध के तहत कंपनी द्वारा फर्स्ट फेज में दो हाईटेक ड्रोन दून पुलिस को सौपें गए है।

पुलिस कप्तान ने बताया कि यातायात पुलिस द्वारा इससे पूर्व ट्रायल बेस पर एक ड्रोन उपयोग में लाया गया था,जिसके चलते ट्रैफिक पुलिस को शहर में यातायात व्यवस्था को नियंत्रित करने में काफी सहायता मिली है। उन्होंने आगे बताया कि आज से दून पुलिस द्वारा शुरू किए जा रहे आपरेशन ‘फ्लाइंग हॉक’ को प्रथम चरण में नगर क्षेत्र के चकराता रोड, शिमला बाईपास रोड़, सहारनपुर रोड, हरिद्वार बाईपास,राजपुर रोड, ई0सी0रोड आदि क्षेत्रों में प्रारम्भ किया जाएगा,जिसमे दो हाई टेक ड्रोन से पुलिस द्वारा उपरोक्त स्थानों के यातायात, अस्थाई अतिक्रमण,नो पार्किंग में खड़े वाहनों पर नज़र रखी जायेगी। उन्होंने बताया कि इसके तहत पुलिस नो पार्किंग में खड़े वाहनों को ड्रोन के माध्यम से कैप्चर करेगी व उक्त गाड़ी के स्वामी को एक अलर्ट मेसेज भेजेगी। उक्त वाहन स्वामी को अपने वाहन को उक्त स्थल से हटाने को 5 मिनेट का समय दिया जाएगा, निर्धारित समय पर गाड़ी न हटाने पर उक्त वाहन स्वामी को ऑनलाइन चालान जेनरेट किया जाएगा। यह फ्लाइंग हॉक सुबह 8 से रात 8 बजे तक क्रियान्वय रहेगा।

पुलिस कप्तान अजय सिंह के अनुसार दून पुलिस का मकसद उक्त फ्लाइंग हॉक से मात्र राजधानी में यातायात व नो पार्किंग को व्यवस्थित करने तक ही सीमित नही रहेगा अपितु इसके जरिये पुलिस द्वारा राजधानी में निकलने वाले जुलूस, प्रदर्शन ,शोभा यात्राओं पर टेक्निकल निगरानी रखेगी जिसकी मदद से पुलिस द्वारा वक़्त रहते जुलूस व शोभा यात्रा के चलते होंने वाले जाम के तहत रूट डायवर्सन जैसे त्वरित व प्रभावी कदम उठाये जा सकेंगे।

उन्होंने बताया कि दून पुलिस द्वारा आपरेशन फ्लाइंग हॉक को छः माह के पायलट प्रोजेक्ट की लिए राजधानी के नगर क्षेत्रो की निगरानी के लिए इस्तेमाल में लाया जा रहा है,इसके सफल होने पर यह आपरेशन ऋषिकेश,सहसपुर, सेलाकुई क्षेत्रो में भी प्रयोग में लाया जाएगा।
प्रथम यूनिट- एसएसपी आफिस- दिलाराम,बिंदाल,चकराता, जोगीवाला, हरिद्वार रोड आदि।
दूसरी यूनिट- कोतवाली पटलनगर- पटेलनगर, बसन्त विहार, जीएमएस, हरिद्वार बाई पास, आईएसबीटी आदि।
आम जनता की सुरक्षा को तत्पर पुलिस द्वारा सदैव ही आम जनता की सुरक्षा व सहायता को तत्परता दिखाई जाती है,किन्तु आम जनता पुलिस की आंख ,नाक,कान व सहायक हैंड है,यह बात पुलिस प्रशासन खुद स्वीकार करता है और ऐसे ही आम जनता की सहायता को लगातार सक्रियता से आगे आने वाले लोगो की सराहना करने को पुलिस द्वारा उन्हें गुड समारिटीयनस अवार्ड से नवाजा जाता है। आज पुलिस द्वारा राजधानी अंतर्गत हुए सड़क हादसों में आम जनता के लिए प्राणदायक बनकर आये ऐसे ही अच्छे लोगो को गुड समारिटीयनस अवार्ड से नवाजा गया।